हकलाहट और घबराहट: 100 से अधिक हकलाने वाले लोगों ने मुझे क्या सिखाया (Hindi Edition) por Lee G. Lovett

हकलाहट और घबराहट: 100 से अधिक हकलाने वाले लोगों ने मुझे क्या सिखाया (Hindi Edition) por Lee G. Lovett
Titulo del libro : हकलाहट और घबराहट: 100 से अधिक हकलाने वाले लोगों ने मुझे क्या सिखाया (Hindi Edition)
Fecha de lanzamiento : December 26, 2017
Autor : Lee G. Lovett
Número de páginas : 354
Editor : Peace Love & Reason LLC

Obtenga el libro de हकलाहट और घबराहट: 100 से अधिक हकलाने वाले लोगों ने मुझे क्या सिखाया (Hindi Edition) de Lee G. Lovett en formato PDF o EPUB. Puedes leer cualquier libro en línea o guardarlo en tus dispositivos. Cualquier libro está disponible para descargar sin necesidad de gastar dinero.

Lee G. Lovett con हकलाहट और घबराहट: 100 से अधिक हकलाने वाले लोगों ने मुझे क्या सिखाया (Hindi Edition)

हकलाने के बारे में आप भी यह मानते होंगे कि यह एक मानसिक और भौतिक रहस्य है । इसके बारे में कोई नहीं जानता कि ये कैसे होता है और कैसे सही हो जाता है । हकलाहट से 25 साल लड़ने के बाद, इस किताब के लेखक जो एक न्यायवादी थे और जो न्यायालय में खुद का नाम नहीं बोल पाए थे, उन्होंने अपने आप को हकलाहट से मुक्त कर लिया था । उन्होंने खुद के तकनीक और विधियों को विकसित किया था, जो उनके लिए केवल कुछ महीनों या साल के लिए ही उपयोगी साबित नहीं हुए, बल्कि उन तकनीक और विधियों को इस्तेमाल करके लेखक आजीवन के लिए सही हो गए हैं । ये तरीके खोजने के दौरान उन्होंने अपनी जिंदगी को भी काफ़ी बेहतर बनाने के तरीके खोज लिए थे ।

हकलाहट उनके लिए एक बड़ा वरदान बन गया था । उनकी कहानी, उनके तकनीक और तरीके इस संक्षिप्त किताब में बहुत विस्तार से वर्णित हैं ।

यह किताब एक ऐसे व्यक्ति द्वारा लिखी गयी है जो पहले हकलाते थे । यह किताब हकलाने वालों के लिए है, हकलाने वालों के माता-पिता के लिए है, जो दिमाग में हकलाते हैं उनके लिए है, जो सबके सामने बोलने में घबराते हैं उनके लिए है और जो “अपने दिमाग के मालिक बनना चाहते है” उनके लिए है । यह तरीके सबकी जिंदगी को बेहतर बना सकते हैं और इन तरीको ने लेखक और प्रकाशक की जिंदगी को भी बेहतर बना दिया है । अधिकांश समस्या विकास के लिए अवसर प्रदान करते हैं । परेशानी जितनी बड़ी होती है विकास के लिए उतना ही अवसर मिल जाता है ।

तो प्रिय पाठक डरना बंद करिये और मुस्कुराना शुरू कर दीजिये क्योंकि यह किताब आपकी बहुत ज्यादा सहायता करने वाली है ।